पीएम जन धन योजना: वंचितों के लिए वित्तीय समावेशन और अधिकारिता

देश की ज्यादा से ज्यादा आबादी तक बैंकिंग सुविधाएं पहुंचाने के उद्देश्य से भारत सरकार ने पीएम जन धन योजनाजन-धन योजना की शुरुआत की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 अगस्त 2014 को इस योजना का उद्घाटन किया था। इस लेख में आप जानेंगे कि प्रधानमंत्री जन-धन खाता के फायदे क्या हैं? नियम क्या हैं? और आप किसी बैंक में अपना जन-धन खाता कैसे खोल सकते है?

Table of Contents

पीएम जन धन योजना क्या है?

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के माध्यम से, भारत के किसी भी नागरिक को बिना कुछ जमा किए और सामान्य डॉक्यूमेंट्स की मदद से बैंक अकाउंट खोलने की सुविधा मिलती है। इसकी मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं—

न्यूनतम जमा या बैलेंस अनिवार्य नहीं

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत खाता खुलवाने के लिए किसी न्यूनतम जमा (Minimum Deposit) की जरूरत नहीं होती। यानी कि आप बिना कोई पैसा जमा किए यह खाता खुलवा सकते हैं। आगे चलकर भी कोई न्यूनतम शेष (Minimum balance) रखना अनिवार्य नहीं होता।

जमा पर 4 प्रतिशत ब्याज भी मिलती है

  • प्रधानमंत्री जन-धन खाते में आप जो भी पैसा जमा रखते हैं, उस पर बैंक सामान्य बचत खाते की तरह 4 प्रतिशत ब्याज भी देता है।
  • सामान्य बचत खाते की तरह जनधन खाते के साथ भी आप एफडी, आरडी वगैरह की सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं।

एटीएम कार्ड भी मिलता है

जन-धन खाता खुलवाने पर निशुल्क एटीएम कार्ड भी जारी किया जाता है। यह एटीएम कार्ड अन्य सामान्य एटीएम कार्ड की तरह किसी भी एटीएम मशीन, पीओएस मशीनों (दुकानों या स्टोरोें पर भुगतान के लिए प्रयोग होने वाली मशीन) या ऑनलाइन भुगतानों के लिए उपयोग किया जा सकता है।

मोबाइल बैंकिंग व एसएमएस अलर्ट भी

अन्य बैंक खातों की तरह प्रधानमंत्री जन-धन खातों पर भी बैंक आपको फोनबैंकिंग (फोन नंबर की मदद से लेन-देन व भुगतान)की सुविधा उपलब्ध कराते हैं। साथ ही आपके खाते से हुए प्रत्येक लेन-देन के लिए एएमएस अलर्ट भी भेजते हैं।

देश में कहीं भी पैसा भेजने व मंगाने की सुविधा

जन-धन खाते के माध्यम से आपको देश के भीतर कहीं भी पैसा भेजने या मंगाने की सुविधा उपलब्ध होगी। ऑनलाइन या डिजिटल पेमेंट भी इससे किए जा सकते हैं।

एक लाख रुपए तक की दुर्घटना बीमा सुरक्षा

प्रधानमंत्री जन-धन खाता खुलवाने पर आपको 2 लाख रुपए तक की दुर्घटना बीमा सुरक्षा भी मिलती है। यानी कि किसी हादसे में खाताधारक को शारीरिक क्षति या मृत्यु होने पर उसे 2 लाख रुपए तक की मदद मिलेगी।

इस दुर्घटना बीमा का लाभ तभी मिल सकेगा, जबकि आपे हादसे की तारीख के पिछले 90 दिन के भीतर उस खाते से कोई लेन-देन किया हो। इस तरह के लेन-देन में वित्तीय या गैर वित्तीय दोनों तरह के लेन-देन शामिल होंगे।

दुर्घटना बीमा सुरक्षा के लिए आपको अलग से किसी तरह का प्रीमियम नहीं भरना पड़ता। वास्तव में, इसका प्रीमियम रुपे कार्ड जारी करने वाली संस्था NPIC की तरफ से हर रुपे कार्डधारक के लिए चुकाया जाता है।

सरकारी सब्सिडी, पेंशन, बीमा वगैरह के लाभ

सरकारी योजनाओं से मिलने वाले फायदे, सब्सिडी, पेंशन, बीमा भुगतान वगैरह की रकम जन-धन खातों के माध्यम से भेजे जा रहे हैं। हालांकि, ये फायदे आपको सामान्य बैंक बचत खाता होने पर भी मिलते हैं। उदाहरण के लिए, रसोई गैस पर ​मिलने वाली सरकारी सब्सिडी अब Direct Benefit Transfer के माध्यम से सीधे लाभार्थी के खाते में भेजी जाती है। प्राइवेट सेक्टर से भी किसी पेंशन योजना या बीमा पॉलिसी वगैरह से जुड़ते हैं तो भी जन-धन खाता को उससे जोड़ सकते हैं।

10000 रुपए तक ओवरड्राफ्ट की सुविधा

अगर आपका प्रधानमंत्री जन-धन खाता 6 महीने पुराना है और ठीक से चल रहा है तो आपको 10000 हजार रुपए अतिरिक्त निकालने (ओवरड्राफ्ट) की सुविधा भी दी जाएगी। हालांकि इसका ब्याज देना होगा।

  • ओवरड्राफ्ट की सुविधा एक परिवार में सिर्फ एक व्यक्ति को मिल सकती है। उसमें भी महिला को प्राथमिकता मिलती है।
  • ओवरड्राफ्ट की सुविधा में दोहरेपन (एक से अधिक खातों से सुविधा लेना) से बचने के लिए खाते से आधार नंबर जोड़ना अनिवार्य किया गया है।

नोट: ओवरड्राफ्ट के माध्यम से आप जो भी पैसा निकालेंगे, उस पर आपको बैंक की आधार दर (Base Rate) से 2 प्रतिशत अतिरिक्त ब्याज चुकाना पड़ता है। फिलहाल ये दर 10% के करीब पड़ती है।

कभी भी सामान्य बचत खाते में करा सकते हैं परिवर्तित

आप आगे चलकर कभी भी अपने जन-धन खाते को सामान्य बचत खाते में बदलवा सकते हैं। बस इसके लिए कुछ दस्तावेज और जमा करने पड़ सकते हैं। इसके बाद में सामान्य बचत खाते के हिसाब से बैलेंस व लेन-देन संबंधी नियमों का पालन करना होगा।

वैसे भी अगर आपने जन-धन खाते के लिए निर्धारित अधिकतम बैलेंस और लेन-देन की सीमा को पार किया तो बैंक अपने आप आपका खाता सामान्य बचत खाते में तब्दील कर देगा। इसके लिए जरूरी प्रकियाएं भी आपको निपटानी पडेंगी।

पीएम जन धन खाता की सीमाएं

  • 4 बार से ज्यादा पैसा निकालने पर शुल्क: एटीएम लेन-देन सहित एक महीने में आप ज्यादा से ज्यादा 4 बार पैसे निकाल सकते हैं। इससे ज्यादा बार पैसा निकालने पर बैंक आपसे शुल्क (10 रुपए प्रति निकासी) वसूलेगा। हालांकि, पैसा जमा करने के संबंध में ऐसा कोई प्रतिबंध या लिमिट नहीं है।
  • अधिकतम बैलेंस का प्रतिबंध: ऐसे खातों में एक साल के दौरान कुल जमा 1 लाख रुपए से अधिक नहीं हो सकती और किसी भी एक समय पर बैलेंस 50 हजार रुपए से अधिक नहीं रखा जा सकता।
  • अधिकतम लेन-देन का प्रतिबंध: एक महीने में कुल निकासी 10 हजार रुपए से अधिक नहीं हो सकती।
  • जीरो अकाउंट पर चेक ड्राफ्ट की सुविधा नहीं: मूल रूप से जन-धन खाता रखने के लिए किसी न्यूनतम बैलेंस की जरूरत नहीं होती, लेकिन अगर आप चेक या ड्राफ्ट की सुविधा प्राप्त करना चाहते हैं तो फिर उसके लिए आवश्यक बैंक बैलेंस भी रखना जरूरी होगा।

पीएम जन धन खाता कहां और कैसे खोलें ?

  • किसी भी बैंक शाखा या बैंक के व्यवसाय प्रतिनिधि (Business Correspondent) के यहां अपना अकाउंट खुलवा सकते हैं। व्यवसाय प्रतिनिधि को ही ‘बैंक मित्र’ नाम दिया गया है। ज्यादातर बैंक इन्ही बैंक मित्र के जरिए ही जन-धन खाता खुलवाते हैं।
  • 10 वर्ष की उम्र से अधिक का कोई भी भारतीय नागरिक अपने नाम प्रधानमंत्री जन-धन खाता खुलवा सकता है।
  • दो या दो से अधिक व्यक्ति मिलकर संयुक्त खाता भी खोल सकते हैं।

पीएम जन-धन खाता खुलवाने के लिए Documents

यदि आधार कार्ड/आधार संख्या उपलब्ध है तो कोई अन्य दस्तावेज आवश्यक नहीं है। यदि पता बदल गया है तो वर्तमान पते (Current Adress) को आवेदक के हस्ताक्षर से प्रमाणित करके स्वीकार किया जाएगा।

यदि आधार कार्ड उपलब्ध नहीं है तो निम्नलिखित सरकारी वैध दस्तावेजों में से किसी एक की आवश्यकता होगीः

  • मतदाता पहचान पत्र
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पैन कार्ड
  • पासपोर्ट
  • मनरेगा जॉब कार्ड

Note: यदि इन दस्तावेजों में आपका पता भी मौजूद है तो ये “पहचान तथा पते का प्रमाण” दोनों का कार्य कर सकता है। अगर पता का उल्लेख नहीं है तो फिर कोई अन्य पता संबंधी दस्तावेज जैसे कि बिजली का बिल, फोन बिल, जन्म प्रमाणपत्र, विवाह पंजीकरण वगैरह दे सकते हैं। उल्लेखनीय है कि जन धन खातों को छोड़कर अन्य किसी तरह के बैंक खाता खुलवाने के लिए सरकार ने पैन कार्ड भी अनिवार्य कर दिया है।

पहचान संबंधी सरकारी दस्तावेज न होने पर क्या करें?

यदि किसी व्यक्ति के पास ऊपर बताए गए “वैध सरकारी कागजात” नहीं हैं, तो वह निम्नलिखित में से कोई एक कागजात जमा करके बैंक खाता खुलवा सकता/सकती है:

  • केंद्र/राज्य सरकार के विभाग द्वारा जारी आवेदक के फोटो वाले पहचान पत्र
  • सांविधिक/विनियामकीय प्राधिकारियों द्वारा जारी आवेदक के फोटो वाले पहचान पत्र
  • सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम द्वारा जारी आवेदक के फोटो वाले पहचान पत्र
  • अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों और लोक वित्तीय संस्थानों द्वारा जारी आवेदक के फोटो वाले पहचान पत्र
  • उक्त् व्यक्ति के विधिवत सत्यातपित फोटोग्राफ के साथ राजपत्रित अधिकारी द्वारा जारी किया गया पत्र

अगर ये दस्तावेज भी उपलब्ध न हो

अगर ये दस्तावेज भी उपलब्ध न हो पा रहे हों तो भी बैंक में जन-धन योजना के तहत लघु खाता खोला जा सकता है। रिजर्व बैंक ने 26 अगस्त 2014 को इस संबंध में एक सूचना जारी की है। इसके मुताबिक—

  • जिन व्यक्तियों के पास कोई आधिकारिक रूप से मान्य दस्तावेज नहीं है वे बैंक में लघु खाता खोल सकते हैं। स्वयं आवेदक की ओर से सत्यापित फोटोग्राफ और बैंक अधिकारी की उपस्थिति में आवेदक के हस्ताक्षर करके लघु खाता खोला जा सकता है। आवेदक के निरक्षर होने पर हस्ताक्षर की बजाय अंगूठे के निशान लगाए जा सकते हैं।
  • लेकिन ऐसा खाता सिर्फ 12 महीने (एक साल) के लिए ही वैध (Valid) होगा। इसके बाद इसे फिर से 12 महीने के लिए इस शर्त पर जारी रखने की अनुमति होगी कि उसने खाता खोलने के 1 साल के भीतर, किसी वैध दस्तावेज के लिए Apply कर दिया है।

FAQ’s

पीएम जन धन योजना क्या है ?

प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएमडीजेवाई) एक राष्ट्रीय बचत योजना है जिसकी शुरूआत बचत खाता, धनप्रेषण, ऋण, बीमा और पेंशन सहित अन्य वित्तीय सेवाओं तक पहुंच सुनिश्चित करने के लिए की गई है।

पीएम जन धन योजना के अंतर्गत अधिकतम राशि कितनी है?

प्रधानमंत्री जन धन योजना के अंतर्गत एक व्यक्ति के पास खाता खोलने के लिए शुरूआती रूप से ₹1 जमा कराने की आवश्यकता होती है। लेकिन इस योजना के अंतर्गत अधिकतम राशि जो एक व्यक्ति अपने खाते में जमा कर सकता है, वह ₹2 लाख है।

पीएम जन धन योजना खाते के लिए कौन पात्र हैं ?

भारत के सभी नागरिक इसके लिए पात्र हैं।

पीएम जन धन खाते से प्रमुख लाभ क्या है ?

प्रमुख लाभ – इस योजना के अंतर्गत सभी के लिए वित्तीय स्वतंत्रता है।

 इसकी कुछ प्रमुख विशेषताएं इस प्रकार हैं :

  • न्यूनतम शेषराशि आवश्यक नहीं।
  • प्रति माह ब्याज अर्जित होता है।
  • एटीएम एवं रुपे डेबिट कार्ड निः शुल्क जारी किए जाते हैं।  
  • रु. 1 लाख का दुर्घटना बीमा (दिनांक 28.08.2018 के बाद खोले गए नए खाते के किए इसे बढ़ाकर रु. 2 लाख किया गया है)
  • पात्र खाताधारकों को रु. 10,000 तक ओवरड्राफ्ट (ओ.डी) की सुविधा।

जमाराशियों की संख्या अथवा रकम पर कोई प्रतिबंध नहीं

क्या मैं ऑनलाइन पीएम जन धन खाता खोल सकता हूं ?

जी नहीं, पीएमजेडीवाय खाता बैंक ऑफ बड़ौदा की किसी शाखा में खोलना आवश्यक है।

Apna Samaaj

Our mission at Apna Samaaj is to connect underprivileged communities in India with the resources and opportunities they need to thrive. We aim to create a comprehensive platform that provides access to welfare schemes from government bodies and NGOs, as well as private organizations, helping to bridge the gap between those in need and those who can provide support. Through our efforts, we strive to empower individuals and communities, drive economic growth, and make a positive impact on society.