कन्या सुमंगला योजना: एक बेहतर भविष्य की ओर एक कदम – A girl child scheme

Poster of kanya sumangla yojna

कन्या सुमंगला योजना क्या है ?

कन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा चलाई गई एक योजना है, जिसके अंतर्गत नवजात कन्याओं को सम्मान राशि के रूप में उनके पालन पोषण तथा शिक्षा के लिए ₹15000 की धनराशि उपलब्ध कराइ जाती हैं। उत्तर प्रदेश में लड़कियों के भ्रूण हत्या रोकने तथा महिलाओं के विकास के लिए नवजात कन्याओं को उत्तर प्रदेश सरकार कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत ₹15000 की धनराशि  की सहायता करती है। जिससे निम्न स्तर के सोच रखने वाले व्यक्तियों पर लड़की पैदा होने का बोझ ना हो सके, और उसके पालन-पोषण के जिम्मेदारी के रूप में सरकार उन्हें सहायता प्रदान करती हैं। इस से भ्रूण हत्या पर रोक लग सके और महिलाओं के सम्मान में विकास हो सके। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना का बजट 2019-20 में घोषित किया गया था, किंतु इस योजना का शुभारंभ 2022 में किया गया। कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत नवजात कन्याओं के रजिस्ट्रेशन 2022 में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कराए जाने की घोषणा की गई है। 

कन्या सुमंगला योजना के लाभ

सुकन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई गई कन्याओं की भ्रूण हत्या रोकने तथा उनके पालन पोषण से संबंधित एक ही योजना है, जिसमें कन्याओं को सहायता राशि प्रदान की जाती है, जिसके कारण लड़कियों का आत्म सम्मान बढ़ता है, तथा लड़कियों के जन्म लेने पर परिवार के सदस्यों पर कोई बोझ नहीं बनता है, जिसके कारण नवजात कन्याओं के भ्रूण हत्या में कमी होगी। कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत नवजात कन्याओं को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निम्नलिखित लाभ प्रदान किए जाते हैं।

  • लाभार्थी का आधार लिंक बैंक अकाउंट खोला जाता है।
  • कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि लाभार्थी के अकाउंट में डायरेक्ट पहुंचते हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत अप्लाई या रजिस्ट्रेशन करने का कोई चार्ज नहीं लिया जाता है।
  • कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत बेटी बचाओ के बारे में लोगों को जागरूक किया जाता है।
  • कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत बेटियों को ₹15000 की सहायता राशि प्रदान की जाती है।
  • इस योजना के अंतर्गत ₹15000 की राशि को 6 अलग-अलग किस्तों में विभाजित किया जाता है, जिससे समय-समय पर बालिकाओं को सहायता मिलती रहती है।
  • बालिका के जन्म होते ही उसके अकाउंट में ₹2000 ट्रांसफर किए जाते हैं। 
  • एक ही परिवार की दो कन्याओं को इस योजना का लाभ दिया जाता है।
  • एक ही परिवार में जन्मे जुड़वा कन्याओं को भी इसका लाभ दिया जाता है।
  • गोंद ली हुए लड़कियों को भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जाता है।
  • यदि आपने दो कन्याओं को गोद लिया हुआ है तो दोनों को ही इस योजना के अंतर्गत लाभ दिया जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत 1 साल में सोलह हजार कन्याओं को कन्या सुमंगला योजना का लाभ देने की योजना बनाई गई है। 

paper cutting of kanya sumangla yojna

कन्या सुमंगला योजना के लिए पात्रता

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही कन्या सुमंगला योजना के तहत लाभार्थी को लाभ पाने के लिए कुछ पात्रता एं निश्चित की गई हैं, जिनका लाभार्थी के पास होना बहुत ही आवश्यक होता है। इन पात्रताओं के बिना लाभार्थी को कन्या सुमंगला योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा। इसलिए यदि आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं, और आपने इसे नवजात कन्या को जन्म दिया है, तो आपको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही कन्या सुमंगला योजना में रजिस्ट्रेशन कराने के पहले निम्नलिखित पात्रता का होना बहुत ही आवश्यक है। यह पात्रता निम्नलिखित हैं

  • कन्या के मां-बाप उत्तर प्रदेश के स्थाई निवासी होने चाहिए।
  • परिवार की कुल वार्षिक आय ₹300000 से कम होनी चाहिए।
  • परिवार के केवल 2 कन्याओं को ही कन्या सुमंगला योजना के लिए पात्र माना जाता है।
  • यदि पहली 2 कन्याएं जुड़वा हुई हैं तो उन्हें एक कन्या माना जाता है तथा लाभ दोनों को ही प्राप्त होता है।
  • पहली दो कन्या जुड़वा होने पर यदि तीसरी कन्या जन्म लेती है तो उसे दूसरी कन्या के रूप में लाभ प्राप्त होता है। 
  • यदि आपने किसी कन्या को गोद लिया हुआ है कन्या सुमंगला योजना के तहत लाभ लेने के लिए आपके पास प्रमाण पत्र होने की आवश्यकता है।
  • केवल 2 कन्याओं को गोद लेने तक ही इस योजना का लाभ प्राप्त हो सकता है। 
  • लाभार्थी का पर्सनल बैंक अकाउंट होना चाहिए।

आवेदन करने के लिए जरुरी दस्तावेज 

यदि कोई लाभार्थी कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाना चाहता है, तो इसके लिए विभिन्न प्रकार के डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ती है, जिससे उत्तर प्रदेश सरकार ने सुमंगला योजना के तहत अनिवार्य कर रखा है। यह सभी प्रकार के डाक्यूमेंट्स आपके पहचान प्रमाण पत्र तथा निवास प्रमाण पत्र के रूप में प्रयोग किए जाते हैं। साथ ही साथ लाभार्थी का एक अकाउंट भी लगाया जाता है, जिसमें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही कन्या सुमंगला योजना का पैसा डायरेक्ट लाभार्थी के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर हो जाता है। यदि आप कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं, और आप इसके लिए पूर्ण रूप से पात्र हैं, तो आपके पास निम्नलिखित डाक्यूमेंट्स होना बहुत ही आवश्यक होता है।

mukhyamantri kanya sumangla on up government portal
  • परिवार का राशन कार्ड जिसमें लाभार्थी का नाम हो।
  • परिवार की आय प्रमाण पत्र।
  • लाभार्थी का बैंक अकाउंट जो आधार कार्ड से लिंक हो।
  • लाभार्थी का आधार कार्ड।
  • लाभार्थी का पैन कार्ड।
  • लाभार्थी का मोबाइल नंबर ईमेल आईडी तथा पासपोर्ट साइज फोटो।
  • यदि आपने कन्याओं को गोद लिया है तो उसका प्रमाण पत्र।
  • वोटर आईडी तथा निवास प्रमाण पत्र।

कन्या सुमंगला योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

कन्या सुमंगला योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए उपरोक्त बताए गए सभी प्रकार के डाक्यूमेंट्स को इकट्ठा करके ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है, इसके लिए आपको निम्नलिखित चरण अपनाने की आवश्यकता होती है।

  • सबसे पहले कन्या सुमंगला योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉगइन करते हैं।
  • वहां पर आपको सिटीजन सर्विस पोर्टल का ऑप्शन दिखाई देता है उस पर क्लिक करना चाहिए।
  • क्लिक करने के पश्चात आपके सामने प्राइवेसी पॉलिसी का एक पेज खुल पर आता है।
  • प्राइवेसी और पॉलिसी में आई एग्री पर चेक करके सबमिट करना चाहिए। 
  • प्राइवेसी सबमिट करने के पश्चात आपके सामने एक फॉर्म खुलकर आता है जिसमें लाभार्थी से संबंधित जानकारी मांगी जाती है उसे भरना होता है। 
  • लाभार्थी से संबंधित जानकारी जैक्सन मोबाइल नंबर नाम पता आधार कार्ड नंबर आज भरने के पश्चात आपके रजिस्टर्ड मोबाइल में एक ओटीपी आता है।
  • ओटीपी सबमिट करने के पश्चात आपका फॉर्म कंप्लीट हो जाता है।
  • फॉर्म कंप्लीट होने के पश्चात एक यूजर आईडी तथा पासवर्ड प्राप्त होता है।
  • यूज़र आईडी तथा पासवर्ड का प्रयोग MSKY Portal पर लॉगिन के लिए प्रयोग किया जाता है जिससे हम कन्या सुमंगला योजना का फॉर्म भर सकते हैं।
  • कन्या सुमंगला योजना का फॉर्म भरने के पश्चात सभी डॉक्युमेंट्स अपलोड करते हैं और सबमिट कर देते हैं।
  • कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत फॉर्म सबमिट करने के पश्चात प्रिंटआउट जरूर प्राप्त कर लें। 

कन्या सुमंगला योजना में ऑफलाइन आवेदन

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित कन्या सुमंगला योजना में ऑफलाइन आवेदन के लिए सबसे पहले निर्धारित स्थानों से ऑफलाइन फॉर्म प्राप्त करते हैं। उसके पश्चात आवेदन के लिए आपको निम्नलिखित चरण अपनाने होते हैं|

Scheme kanya sumangla yojna by department of women and child development
  • निर्धारित स्थानों जैसे कन्या सुमंगला पोर्टल, खण्ड विकास अधिकारी, SDM, जिला परिवीक्षा अधिकारी, उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय से ऑफलाइन आवेदन फॉर्म प्राप्त करते हैं।
  • फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारियों को स्पष्ट रूप से बढ़ते हैं।
  • फॉर्म में मांगे गए सभी डाक्यूमेंट्स को फॉर्म के साथ अटैच करते हैं।
  • ऑफलाइन आवेदन फॉर्म जमा करने के लिए सरकार द्वारा पूर्व से निर्धारित स्थानों जैसे जैसे कन्या सुमंगला पोर्टल, खण्ड विकास अधिकारी, SDM, जिला परिवीक्षा अधिकारी, उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय आदि स्थानों में फॉर्म जमा कराया जाता है।
  • उपरोक्त स्थानों के अधिकारी फॉर्म को जिला परिवीक्षा अधिकारी ऑनलाइन अग्रेषित करने का कार्य करते हैं।
  • सभी अधिकारियों से प्राप्त ऑफलाइन आवेदन फॉर्म को जिला परिवीक्षा अधिकारी द्वारा ऑनलाइन जिला लॉगिन द्वारा अपलोड किया जाता है। 
  • इसके पश्चात ऑनलाइन माध्यम से ही प्रक्रिया हो जाती है।
  • ऑफलाइन माध्यम से डाक द्वारा भेजे गए किसी भी आवेदन को स्वीकार नहीं किया जाता है। 
  • इसलिए कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए उपरोक्त अधिकारी के कार्यालय में ही फॉर्म को जमा करें।

कन्या सुमंगला योजना का पैसा देने के उद्देश्य

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सुमंगला कन्या योजना का उद्देश्य लड़कियों के भ्रूण हत्या पर रोक लगाना तथा महिलाओं के सम्मान में वृद्धि के लिए प्रारंभ की गई है, जिसमें सरकार की तरफ से कन्या के जन्म होने पर ₹2000 तथा आगे 6 किस्तों में उसे कुल ₹15000 की सहायता राशि प्रदान की जाती है, जिससे लड़की के पालन पोषण का भार परिवार पर कम होता है, तथा लोग लड़की को भ्रूण हत्या में नहीं खत्म करते हैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित कन्या सुमंगला योजना के निम्नलिखित उद्देश्य हो सकते हैं।

  • मध्यम वर्ग की लड़कियों को आर्थिक सहायता मिल सके इसलिए इस योजना की शुरूआत की गई।
  • भ्रूण हत्या में कमी आए इस उद्देश्य से कन्या सुमंगला योजना का प्रारंभ किया गया।
  • महिलाओं को आत्म सम्मान दिलाने के लिए कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत की गई।
  • कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत लड़कियों की सहायता ₹15000 के रूप में की जाती है जो कि उनके समय समय पर 6 किस्तों में प्रदान होती है। 
  • इस योजना के अंतर्गत लड़कियों की जन्म दर मैं वृद्धि हो सकती है तथा लड़कियों को सामाजिक स्तर पर समानता का अधिकार मिल सकता है।

FAQ’s

सुमंगला योजना का क्या नियम है?

सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित बेटी बचाओ तथा महिलाओं के आत्म संरक्षण के लिए शुरू की गई है, योजना है जिसके अंतर्गत बेटी के जन्म से उसकी शिक्षा के खर्च के लिए ₹15000 की सहायता राशि सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। जिसमें सरकार द्वारा कुछ पात्रता है, निश्चित की गई हैं उनका होना अनिवार्य है, तथा परिवार की पहली तो बेटियों में दोनों को कन्या सुमंगला योजना का लाभ प्राप्त हो सकता है, इसके लिए परिवार की कुल और वार्षिक आय ₹300000 से कम होनी चाहिए।

सुमंगला योजना का पैसा कैसे चेक करें?

 उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित नवजात कन्याओं को सहायता राशि प्रदान करने के लिए सुमंगला कन्या योजना के तहत पैसा चेक करने के लिए निम्नलिखित चरण अपनाए जा सकते हैं।
1. कन्या सुमंगला योजना का पैसा चेक करने के लिए आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट mksy.up.gov.in  पर जाने की आवश्यकता है।
2. सुमंगला योजना की आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आपको सिटीजन लॉगइन पोर्टल दिखाई देता है।
3. सिटीजन लॉगइन पोर्टल पर लोडिंग करने के पश्चात आपको सुमंगला योजना था होम पेज दिखाई देता है।
4. होम पेज में लॉगिन करने के पश्चात आपको सुमंगला योजना से संबंधित पूरी जानकारी प्राप्त हो जाती है।

कन्या सुमंगला योजना का लाभ कब मिलेगा?

कन्या सुमंगला योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए जो आपने रजिस्ट्रेशन करवाया है तो लड़की के जन्म होते हैं, ₹2000 की राशि प्राप्त होती है, तथा टीकाकरण के पश्चात ₹1000 प्राप्त होते हैं। इस प्रकार कुल 6 किस्तों में टोटल ₹15000 प्रदान किए जाते हैं, जो कि करने के पालन पोषण तथा शिक्षा संबंधी खर्चों में खर्च किए जाते हैं। इसका लाभ लेने के लिए आपको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी की गई पात्रता होना आवश्यक होता है। पात्रता के लिए उपरोक्त लेखन का अध्ययन करने की आवश्यकता है।

For more information and query , visit the website https://mksy.up.gov.in/women_welfare/index.php

Apna Samaaj

Our mission at Apna Samaaj is to connect underprivileged communities in India with the resources and opportunities they need to thrive. We aim to create a comprehensive platform that provides access to welfare schemes from government bodies and NGOs, as well as private organizations, helping to bridge the gap between those in need and those who can provide support. Through our efforts, we strive to empower individuals and communities, drive economic growth, and make a positive impact on society.